मीडिया

आज की खबर , समाचार या ज्ञान मीडिया के द्वारा फैलाया जाता है। राजनैतिक पार्टिया और धार्मिक समुदाय भी अपनी फिलॉसफी के प्रचार में इसी के सहायता लेते है।
गूगल , माइक्रोसॉफ्ट, फेसबुक, यूट्यूब, टीवी , रेडियो वाटसअप हमें लगातार कुछ ना कुछ बताते रहते है।  हम में से हर जवान और मध्यम आयु के नर और नारी दोनों
स्मार्ट फ़ोन के द्वारा बाते करते, मुस्कराते और उदास होते नज़र आते है। बाइबिल के पुराने नियम की पुस्तक होशे के 4 थे अध्याय की 6 ठी आयत में परमेश्वर का वचन, सही ज्ञान के ना  होने से लोग के विनाश होने की बात करता  है। मनुष्य को विनाश से बचाने का यह ज्ञान भारत में भी योरोप की तरह 2000 साल पहले दक्षिण भारत में आया और यह  एक और धरम के रूप चर्च की दीवारों के अंदर ही रह गया। आपमें से बहुत से लोग पादरी का काम करते है या किसी मसीह संस्थान की नौकरी और अपने प्रभाव का सिमित तरीके से उपयोग करते है , परन्तु रेडियो और टीवी के द्वारा हम वहां पहुँच सकते है जहाँ आपका चर्च नहीं। जब हम इजराइल और भारत की तुलना करते है तो दोनों ही देश 70 साल के हो गए है। परन्तु एक तो मध्य पूर्व की सफल अर्थव्यवस्था है  और सफल डेमोक्रेसी मानी  जाती है और दूसरी गरीबी , बीमारी और अन्याय से भरी हिपोक्रेसी ही बन कर रह गयी है।  इसका एक ही कारण है सही ज्ञान का ना  होना और मनुष्य के मूल्य की अवहेलना। बाइबिल के अनुसार पैदा होने से मरने के दिन तक मेरा और आपका महत्व है। आपको पाप की सत्ता से बचाकर येशु ने बीमारी , गरीबी , मौत और हर तरह के श्राप से आपको और मेरे को मुक्त किया। परमेश्वर के द्वारा दिया हुआ बलिदान हमारे परिवार , समाज और देश सबको विनाश से बचने में सक्षम है। सबका रेडियो और आपकी आशा टीवी श्रंखलाये इसी ज्ञान को फैलाने के लिए ही शुरू की गयी है।
हम आपके साथ सुसंचार को फैलाने वाले बिना दीवारों के चर्च है और आप को साथ लेकर चलने को तत्पर है। अगर आप आर्थिक रूप से, प्राथना के द्वारा ,सन्देश जा संगीत भेजकर या अपने चर्च में सबका रेडियो और आपकी आशा की सेवाओं के बारे में बताएँगे तो आप परमेश्वर के राज्य के विस्तार में सहयोगी होंगे। और जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट पर जाये और वहां से हमारा इ- मेल एड्रेसस जा फ़ोन नंबर लेकर संपर्क करे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.